आज हम इसी पर चर्चा करने वाले हैं और आपको जानकारी देंगे कि किस प्रकार से आप अपने बिजनेस को फेल होने से बचा सकते हैं बड़ा से बड़ा बिजनेस हो या फिर छोटे से छोटा बिजनेस कोई भी बिजनेस जब हम शुरू करते हैं तो कुछ ना कुछ गलतियां कर देते हैं जिन का भुगतान हमें बाद में करना पड़ता है अपने बिजनेस को बर्बाद करके |

 इसलिए अगर आप अपने बिजनेस को बर्बाद होने से बचाना चाहते हैं तो अपने बिजनेस में इस प्रकार की 10 गलतियां कभी भी ना करें –

Table of Contents

1.बिजनेस फेल क्यों होता है पार्टनरशिप बिजनेस शुरू करके-

 दोस्तों जब भी हम किसी बिजनेस की शुरुआत करते हैं तो उस समय हम बहुत सारे लोगों से उस बिजनेस के बारे में पूछते हैं हमारे दोस्त होते हैं रिश्तेदार होते हैं हम उनसे उसके बारे में जानकारी लेते हैं अगर उस बिजनेस के बारे में किसी को पहले से नॉलेज है तो आप उसको यह भी कहते हैं कि पैसा हम लगा देंगे आप हमारे साथ पार्टनर बन जाए | 

दोस्तों जब भी हम किसी को अपना पार्टनर बनाते हैं तो शुरू में हम लोगों के विचार एक जैसे होते हैं हम उस बिजनेस को काफी ऊंचाई तक ले जाते हैं परंतु जब बिजनेस हमारी रफ्तार पकड़ रहा होता है हमको महसूस होता है कि हम इस बिजनेस में आप सफल हो गए हैं अच्छा पैसा कमा रहे हैं तब आप दोनों के मन में कहीं ना कहीं इस बात का पछतावा होने लगता है कि काश हमने इसको पार्टनर ना बनाया होता तो यह सारी प्रॉफिट हमारी होती |

 अगर यह बात आपके मन में नहीं आ रही तो आपके पार्टनर के मन में निश्चित आएगी और जब ऐसा विचार हमारे मन में आना शुरू हो जाता है तभी से हमारी बिजनेस को टूटने का सिलसिला शुरू हो जाता है 1 दिन किसी न किसी वजह से हमारे बीच जो पार्टनरशिप टूट जाती है और जिस बिजनेस को हमने अपनी मेहनत के साथ खड़ा किया था वह बिजनेस भी बर्बाद हो जाता है | 

इसलिए कोशिश करें जब भी आप कोई बिजनेस शुरू करें अगर आपके पास पैसे की कमी है आप किसी भी बैंक से लोन लेकर बिजनेस शुरू कर सकते हैं परंतु एक पार्टनर रखकर बिजनेस ना करें आपका बिजनेस कभी भी ब्लॉक नहीं होगा आप बिजनेस में सफल होंगे सिर्फ आपको इतनी मेहनत करनी है जितनी आप को करनी चाहिए आप अपने यहां लेबर रखिए पाटनर या मालिक नहीं |

2.बिजनेस फेल क्यों होता है किसी भी बिजनेस की प्रॉफिट देखकर-

 ज्यादातर हम बिजनेस लोगों से सुनकर शुरू करते हैं जैसे कि आजकल आप सभी लोग देखते हैं कि यूट्यूब पर बहुत सारे युटुब पर आपको एक मशीन दिखाते हैं और उस मशीन से एक प्रोडक्ट बनाकर बताते कि यह प्रोडक्ट आप इतने रुपए में बना कर तैयार कर सकते हैं और मार्केट में आप इसको 10 गुनी कीमत पर सेल कर सकते हैं |

 और हम सोचते हैं कि हम इस मशीन को खरीदने और इससे बिजनेस स्टार्ट कर हम बहुत ही अच्छा प्रॉफिट ले सकते हैं परंतु आप शायद यह भूल जाते हैं कि जो भी व्यक्ति मैन्युफैक्चरिंग करता है उसको उतनी ज्यादा प्रॉफिट नहीं होती है जितनी कि रिटेलर होलसेलर को होती है | अगर आप उस बिजनेस की शुरुआत मैन्युफैक्चर होलसेल रिटेलर बनकर करेंगे तब तो आप प्रॉफिट ले सकते हैं वरना आपको ज्यादा प्रॉफिट नहीं होने वाली |

 अगर आपको मैन्युफैक्चर बनकर ज्यादा प्रॉफिट लेनी है तब आपको अपना प्रोडक्शन उत्पादन ज्यादा करना पड़ेगा जितनी ज्यादा मात्रा में आप उत्पादन करेंगे उतना ज्यादा ही आपको प्रॉफिट होगी परंतु इस प्रकार के बिजनेस में आपको इन्वेस्टमेंट ज्यादा करना पड़ता है |

 परंतु यहां पर भी एक  रिस्क रहता है कि अगर आपने मशीन खरीदने में ज्यादा इन्वेस्टमेंट कर दिया और वह प्रोडक्ट आप सेल नहीं कर पा रहे उसके लिए आप होलसेलर रिटेलर नहीं बना पा रहे तब भी आपका बिजनेस बर्बाद हो सकता है आपने जो पैसा मशीन को खरीदने में इन्वेस्ट किया है वह सभी बर्बाद हो सकता है |

3.ज्यादा क्वांटिटी से माल खरीदने पर नुकसान-

  ज्यादातर कंपनियां अपना माल बेचने पर ज्यादा फोकस करते हैं उनका एक ही मानना होता है की माल जितना ज्यादा सेल कर सको उतना अच्छा है इसलिए जब भी आप होलसेल के लिए माल खरीदने जाते हैं तब आपको कोई भी कंपनी सिर्फ यही कहेगी कि आप 500000 का 1000000 का माल एक साथ ले हम आपको इतना प्रॉफिट देंगे या फिर इतना सस्ता माल दे देंगे |

 हम सोचते हैं  की ज्यादा माल खरीद लेते हमको ज्यादा प्रॉफिट हो जाएगी और इस कारण हम उस बिजनेस में ज्यादा पैसा लगाकर बहुत सारा माल खरीद लेते हैं परंतु वह माल आपके क्षेत्र में सेल नहीं होगा तब आप क्या करेंगे आपका सारा पैसा बर्बाद हो जाएगा |

 जिस कंपनी से आपने माल खरीदा उसका तो फायदा हो गया क्योंकि आपने उससे माल खरीद लिया आप अपना नुकसान कर बैठे इसलिए जब भी आप शुरुआत करें तब आप कम से कम मात्रा में माल खरीदा उसके बाद जब आप सफल हो जाए जब आपको लगे कि हां मैं बिजनेस को कर लूंगा तभी आप उससे ज्यादा मात्रा में माल खरीदें |

4.दूसरे को देखकर बिजनेस शुरू करनाwhy fail business-

why fail business ज्यादातर बिजनेस इसी कारण फेल होते हैं कि वह दूसरे को देख कर बिजनेस की शुरुआत करते हैं  वह सिर्फ इतना देखते हैं कि यह बिजनेस खूब चल रहा है और वह उस बिजनेस की शुरुआत कर देते हैं जबकि इस प्रकार से किसी भी बिजनेस की शुरुआत करना बिजनेस को नुकसान पहुंचाना है |

आप यह जानकारी नहीं कर पाते कि वह उस बिजनेस को किस प्रकार से कर रहा है अगर कोई आपका दोस्त पड़ोसी किसी बिजनेस  को कर रहा है और आप उस व्यक्ति से उस बिजनेस के बारे में कुछ जानकारी पूछेंगे वह आपको कभी भी सही जानकारी नहीं देता है |  या तो वह उस  बिजनेस के बारे में आपको प्रॉफिट ज्यादा बताएगा या फिर जहां से माल वह मंगा रहा है वह जगह गलत बताएगा जिससे कि आप उसके कंपटीशन में किसी बिजनेस को शुरू ना कर सके इस कारण जब भी आप अपने पड़ोसी को देखकर बिजनेस की शुरुआत करें उससे पहले उस बिजनेस को अच्छी तरह से समझ लें तभी शुरुआत करें |

  1. 2 दिन में बिजनेस सफल होने की सपने देखनाwhy fail business- 

जब भी हम किसी बिजनेस की शुरुआत करते हैं तो हम सोचते हैं कि पहले दिन से ही हमारा बिज़नेस उठ जाएगा बहुत सारे कस्टमर आएंगे और हमें प्रॉफिट शुरू हो जाएगी परंतु ऐसा होता नहीं है जब भी किसी भी चीज की शुरुआत करते हैं चाहे कोई भी बिजनेस हो उसको शुरू होने में और उस बिजनेस को सफल होने में कम से कम 3 से 5 साल का समय लगता है |

 अगर आप पहले दिन से ही यह सपना देखेंगे कि हमारा बिज़नेस सफल हो जाएगा और आप 6 महीने 1 साल इंतजार करने के बाद जब आप देखेंगे कि आपका बिजनेस नहीं चल रहा है तब आप उस बिजनेस को बंद कर देते हैं और ऐसा करने के बाद हम दूसरा बिजनेस शुरू कर देते हैं और कुछ दिन उस बिजनेस को करते हैं फिर हम कहते हैं कि यह बिजनेस तो बेकार है चलो तीसरा बिजनेस करते हैं |

और ऐसा करते करते हम जीवन भर सिर्फ बिजनेस ही बदलते रहते हैं कभी भी किसी बिजनेस में सफल नहीं होते और यह मुख्य कारण है आपके असफल होने का |  आप इंतजार नहीं करते हैं कि किसी बिजनेस को सफल होने में कितना टाइम लगता है \ अगर आप कोई भी बिजनेस कर रहे हैं तो आपको उस बिजनेस के सफल होने का इंतजार करना चाहिए |

 जब हम कोई बिजनेस की शुरुआत करते हैं और कस्टमर हम को पहचानने लगता है जब भी उसको किसी भी प्रोडक्ट की आवश्यकता होती है तो वह जानता है कि यह प्रोडक्ट आपकी दुकान पर मिलेगा तो वह सीधा आपकी दुकान पर आएगा और वह प्रोडक्ट खरीद लेता है परंतु आप एक 2 साल एक जगह रहने के बाद दूसरी  जगह अपनी दुकान शुरू करते हैं तो वहां के जो भी कस्टमर होते हैं वह आपका साथ छोड़ देते हैं वह वहीं पास में जो दूसरी दुकान होगी वहीं से प्रोडक्ट खरीदने लगते हैं |

 अगर आपको कोई भी बिजनेस शुरू करना है तो कोशिश यह करें कि आपको बार-बार अपने बिजनेस की लोकेशन ना बदलने पड़े भले ही आपको अपने दुकान मालिक को भाड़ा ज्यादा देना पड़े परंतु दुकान की लोकेशन ना बदला जिससे कि आपके जो कस्टमर है वह आपसे हमेशा जुड़े रहे |  अगर आप एक जगह छोड़कर दूसरी जगह पर शिफ्ट होते हैं तब आपके जो भी कस्टमर होते हैं वह टूट जाते हैं नई जगह पर आपको नए कस्टमर बनाने होते हैं जो कि काफी मुश्किल कार्य होता है इसलिए कभी भी कोई बिजनेस शुरू करें एक ही जगह पर शुरू करें अपनी लोकेशन बार-बार ना बदलें |

  1. क्वालिटी पर ध्यान ना देना{ बिजनेस फेल क्यों होता है }- 

 दोस्तों आज के समय में लोग अच्छा खाना चाहते हैं अच्छा पहनना चाहते हैं और उनके घर में जो भी प्रोडक्ट है अच्छी क्वालिटी का हो बार-बार खराब ना हो इस प्रकार का वक्त खरीदना चाहते हैं एक समय था जब लोग कुछ भी खरीद लेते थे परंतु आज के समय में लोग ब्रांड पर ज्यादा भरोसा करते हैं उन्हें  अच्छी क्वालिटी चाहिए इसलिए जब भी आप बिजनेस शुरू करें |

 अपने पास अच्छी क्वालिटी रखें जिससे कि एक बार कस्टमर आपके पास आए तो वह दोबारा भी लौट कर आपकी ही दुकान पर आए उसे इस बात का भरोसा हो कि आप की दुकान पर उसको जो भी प्रोडक्ट मिलेगा वह ओरिजिनल मिलेगा क्वालिटी अच्छी मिलेगी आप उसके साथ धोखा नहीं करेंगे |  ज्यादातर दुकान वाले आजकल डुप्लीकेट प्रोडक्ट बेचने लगे हैं ऐसा करने पर दुकानदार पैसा तो ज्यादा कमा लेता है

 परंतु जब कस्टमर को इस यह मालूम पड़ता है की दुकानदार ने उसको ओरिजिनल कहकर लोकल माल दिया है तो वह दोबारा आपकी दुकान पर नहीं आएगा साथ ही उसके जितने भी पहचान वाले हैं उनको भी यह बोलेगा कि वह दुकानदार बहुत ही खराब क्वालिटी का माल देता है आप वहां ना जाएं वह ओरिजिनल कहकर लोकल माल बेचता है |

  1. ज्यादा प्रॉफिट  कमानाwhy fail business-

 दूसरी कहावत है कि काठ की हांडी एक बार चढ़ती है कहने का मतलब है कि अगर आप किसी कस्टमर से ज्यादा पैसे लेंगे ज्यादा मुनाफा कमाएंगे तो वह आपसे सिर्फ एक बार वह प्रोडक्ट खरीद कर ले जाएगा दोबारा आपकी दुकान की तरफ देखेगा भी नहीं |

 आज का समय ऑनलाइन हो चुका है दूसरी बात अगर आप एक प्रोडक्ट एक दुकान से खरीदते हैं भले ही आपने वह प्रोडक्ट खरीद लिया हो फिर भी आप पास की दुकान से यह जानकारी अवश्य करते हैं कि उसने वह प्रोडक्ट आपको सही कीमत में दिया है या नहीं अगर उसे यह विश्वास हो जाता है कि आप उसको जो प्रोडक्ट दे रहे हैं उसकी सही कीमत आप ने ली है तो वह बार-बार आपकी दुकान पर आता है |

 परंतु अगर कस्टमर को यह जानकारी मिलती है कि आपने उसको वह चीज ज्यादा कीमत पर बेची है मार्केट में आप से कम कीमत में माल मिल रहा है तो वह कस्टमर उस दुकान से माल खरीदना शुरू कर देगा और आपकी दुकान को छोड़ देगा |  अगर आप कम प्रॉफिट रखकर अपना बिजनेस शुरू करेंगे तो ज्यादा से ज्यादा कस्टमर आपके पास आएंगे और जिसको भी यह जानकारी मिलेगी कि उस दुकान पर मार्केट से कम कीमत पर माल मिल जाता है तो लोग आपके पास बार-बार आएंगे और जिसको भी वह प्रोडक्ट की आवश्यकता होगी वह आपकी दुकान के बारे में निश्चित तौर पर बताएंगे \

  1. बिजनेस फेल क्यों होता है सही लोकेशन ना होना-

 दोस्तों एक हर बिजनेस की एक अच्छी सी लोकेशन होती है यह पहले से निश्चित होता है कौन सा बिजनेस किस जगह पर चलेगा और उस बिजनेस को कौन कर सकता है |  अगर कोई आपके घर पर आता है और वह आपको एक सोने की चेन देता है कहता है ओरिजिनल चयन है वह बीच रहा है इसकी मार्केट में कीमत ₹80000 है परंतु आप उसको मात्र ₹20000 में दे देंगे | 

 क्या आप उससे वह चेन खरीदेंगे भले ही वह सोने की ही क्यों ना हो | जबकि वही सोने की चेन आप सोने की दुकान से मार्केट में खरीदने जाएं और दुकानदार आपको ₹80000 बताएं और आप दुकानदार को बोले भाई ₹20000 में मुझे दे दो क्या वह आपको दे देगा |

 यहां पर एक जगह तो ऐसी है जहां पर आप वह चेक खरीद नहीं रहे हैं ₹20000 में और एक जगह ऐसी है जहां पर दुकानदार आपको वह प्रोडक्ट बीच नहीं रहा है ₹20000 में |  दोनों में फर्क क्या है आप सोचिए सिर्फ जगह का |

 इसी प्रकार से अगर आप कोई भी चीज की शुरुआत करते हैं तो उस बिजनेस की लोकेशन पहले सोचे समझे कि कौन सा बिजनेस कहां पर चल सकता है कहां पर उसकी सही कीमत मिल सकती है उसी जगह उस बिजनेस को शुरू करें और आप देखेंगे कि आपका  बिजनेस कितना अच्छा चल रहा है |

  1. दलाल के माध्यम से बिजनेस शुरू करना {बिजनेस फेल क्यों होता है} – 

जब हम किसी बिजनेस की शुरुआत करते हैं तो शुरू में हमको जो कुछ भी चाहिए वह घर बैठे चाहिए और आसान तरीके से चाहिए हमें कुछ भी मेहनत नहीं करनी हमको सिर्फ दुकान डालनी है ऑफिस डालना है माल मंगाना है उसके अंदर बैठ जाना है हमको यह नहीं देखना कि वह बिजनेस शुरू करने के लिए आप कितना पैसा इन्वेस्ट कर रहे हैं और कितना बड़ा रिस्क ले रहे हैं|

 जब आप किसी दलाल के माध्यम से सामान खरीदेंगे तो उसमें उसका कमीशन होगा कुछ कमीशन आप उस दलाल को देंगे साथ ही कुछ कमीशन वह उस दुकानदार से भी लेगा जिससे आप माल खरीदेंगे इस प्रकार से उस दलाल को ज्यादा प्रॉफिट होगा और वह प्रॉफिट उसको मिलेगी कहां से कभी सोचा है आपने जो सामान खरीदा है उसी पर वह लगाई जाएगी |

 कहने का मतलब है कि आपको जो प्रोडक्ट ₹100 का मिल सकता था आप दलाल के माध्यम से  उस प्रोडक्ट को ₹120 या ₹130 तक खरीद रहे हैं सिर्फ इसलिए कि आपको थोड़ी सी मेहनत ना करनी पड़े |

 मेरा मेहनत करने का मतलब यह नहीं कि आपको किसी का पल्ला डालना है किसी के यहां मजदूरी करनी है मेरे कहने का मतलब है कि आप जब भी किसी बिजनेस को शुरू करें तब आपको स्वयं मैन्युफैक्चर होलसेल खोजना चाहिए साथ ही 1  होलसेलर या मैन्युफैक्चर से कार्य नहीं चलता है इसलिए आपको कई एक ओर से मिलना चाहिए और उनसे संपर्क करने के बाद ही माल खरीदना चाहिए |why fail business