आप किस प्रकार से मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत लोन की प्राप्ति कर सकते हैं इस लोन को प्राप्त करने के लिए कौन-कौन सी योग्यता होनी चाहिए तथा अगर आप इस लोन को लेना चाहते हैं तो आपके पास कौन-कौन से डाक्यूमेंट्स होने चाहिए तथा बहुत ही ज्यादा पूछे जाने वाला प्रश्न कि हम मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत कौन कौन से रोजगार के तहत लोन की प्राप्ति कर सकते हैं आदि सभी जानकारी आपको आज इस ब्लॉग पोस्ट में मिलने वाली है |

Table of Contents

मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना -CMEGP full form in hindi –

cmegp का फुल फॉर्म है मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना / mukhya-mantri gramodyog rojgar yojana यह एक राज्य सरकार की योजना है जिसके अंतर्गत आपको गांव में रोजगार करने के अवसर प्रदान किए जाते हैं और इसके लिए सरकार आपको बिना ब्याज के लोन उपलब्ध करवाती है अगर आप गांव में कोई भी रोजगार शुरू करना चाहते हैं तब आप मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत अपने बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं और इससे 1000000 रुपए तक की लोन की प्राप्ति कर सकते हैं |

  मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना- [cmegp scheme]- 

अगर आप मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत लोन लेना चाहते हैं तो आप इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं अगर आप शहर में रहते हैं और बिजनेस की शुरुआत करना चाहते हैं तो आप इस योजना के अंतर्गत अपने नजदीकी किसी भी ग्राम में इस योजना के अंतर्गत अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं |

cmegp scheme योजना के अंतर्गत बहुत सारी ऐसी व्यवसाय हैं जिनकी आप शुरुआत कर सकते हैं और सरकार की तरफ से लोन प्राप्त कर सकते हैं और इस लोन पर आपको 5 साल तक किसी भी तरह का कोई भी ब्याज नहीं देना होता है यह सुविधा सरकार की तरफ से आपको प्रदान की जाती है अगर आप मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत अपना व्यवसाय शुरू करने की तैयारी कर रहे हैं तब आपको यह निश्चित तौर पर जानकारी रखनी चाहिए कि इस योजना में आप किस प्रकार के रोजगार की शुरुआत कर सकते हैं |

 मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना-खनिज आधारित उद्योग-

मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत आप खनिज आधारित उद्योग की स्थापना करके अपने बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं खनिज आधारित उद्योग के अंतर्गत कुछ पॉपुलर बिजनेस हैं जो कि इस प्रकार से है

  •  कुटीर कुम्हारी उद्योग
  •  चूना पत्थर, चूना सीपी और अन्य उत्पादक उद्योग
  •  मंदिर और भवनों के लिए पत्थर की कटाई पिसाई नकाशी खुदाई आदि करना
  •  पत्थर से बनी हुई उपयोगी वस्तुओं की बिक्री करना
  •   सिलेट और पेंसिल आदि का निर्माण करना
  •  प्लास्टर ऑफ पेरिस का निर्माण करना
  •  बर्तन धोने का पाउडर का निर्माण करना
  •  सोने चांदी की चूड़ी का निर्माण  रत्न की कटाई करना 
  •  पेंट बार्नेस डिस्टेंपर आदि का निर्माण
  •  कांच के खिलौने का निर्माण
  •  सजावटी शीशे की कटाई डिजाइनिंग पॉलिश आदि करना
  •  इसे भी पढ़ें ?
  • अखरोट का होलसेल बिजनेस कैसे शुरू करें ₹150 किलो खरीदें ₹400 किलो भेजें?

वन आधारित उद्योग- [मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना}

 आप मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत वन आधारित उद्योग की शुरुआत कर सकते हैं इस उद्योग के अंतर्गत बहुत सारे व्यवसाय आते हैं जो कि इस प्रकार से है-

  • हाथ कागज उद्योग निर्माण
  •  गोंद और रेजिन आदि का निर्माण कथा निर्माण
  •  लाख निर्माण
  •  दियासलाई उद्योग पटाखे अगरबत्ती निर्माण
  •   बांस और बेंत का निर्माण और कार्य
  •  कागज से प्याले तश्तरी झूले और कागज के डिब्बे का निर्माण
  •  कापियां जिल्द सारी लिफाफा निर्माण
  •  खास पट्टी और झाड़ू का निर्माण
  •  वन उत्पादकता संग्रह परिशोधन और पैकिंग
  •  फोटो  फ्रेमिंग का कार्य
  •  जूट उत्पादक निर्माण

कृषि आधारित और खाद्य उद्योग- [मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना]

अगर आप मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत कृषि आधारित और खाद्य उद्योग की शुरुआत  करना चाह रहे हैं तो आप इसके अंतर्गत निम्नलिखित कार्य की शुरुआत कर सकते हैं जो कि इस प्रकार से है-cmegp scheme

  • अनाज दाल मसाला चटपटे मसाले आदि का परिशोधन पैकिंग और विपणन
  • ताड़गुण  निर्माण और अन्य ताड़ उत्पादक उद्योग 
  • गन्ना गुण और खंड सारी निर्माण
  •  मधुमक्खी पालन
  •  अचार आदि का निर्माण
  •  औषधीय कार्यों के लिए जड़ी बूटियों का संग्रह
  •  मकई और रागी का परिशोधन
  •  मजा चटाई हो और हारों का निर्माण
  • काजू पर शोधन
  •  दोना बनाना
  •  नूडल निर्माण
  •  विद्युत चलित आटा चक्की
  •  दलिया निर्माण
  •  चावल छिलका उतारने की छोटी इकाई लगाना
  •  भारतीय मिष्ठान निर्माण
  •  रसवंती गन्ना रसपान इकाई
  •  मेंथॉल तेल
  •  दुग्ध उत्पादन निर्माण इकाई
  •   पशु चारा मुर्गी चारा निर्माण

बहुलक और रसायन आधारित उद्योग- [मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना]

cmegp scheme योजना से आप बहुत प्रकार के नए प्रोडक्ट का निर्माण कर सकते हैं और अपने बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं और इस योजना के अंतर्गत आप निम्नलिखित उत्पादन की शुरुआत कर सकते हैं-

  •  चर्म शोधन खाल त्वचा संबंधित उद्योग एवं चर्म उद्योग
  •  साबुन उद्योग
  •  रबड़ वस्तुओं का निर्माण
  •  रेगजीन पीवीसी के बने उत्पादन
  •  हाथी दांत समेत सिंह और हड्डी उत्पादन
  •  मोमबत्ती कपूर और मोहर वाली मोम का निर्माण
  •   इत्र निर्माण
  •  शैंपू निर्माण
  •  केश तेल निर्माण
  •  डिटर्जेंट और धुलाई पाउडर निर्माण

इंजीनियरिंग और गैर परंपरागत ऊर्जा- [cmegp scheme]

cmegp scheme योजना के अंतर्गत आप इंजीनियरिंग और गैर परंपरागत ऊर्जा वाले व्यवसाय की शुरुआत कर सकते हैं मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत यह कार्य निम्नलिखित है जिन की शुरुआत आप अपने गांव क्षेत्र में कर सकते हैं जो कि इस प्रकार है-

  • बढ़ाई  गिरी
  •  लोहारी
  •  अल्मुनियम के घरेलू बर्तनों का उत्पादन
  •  गोबर गैस का उत्पादन
  •   कागज पिन क्लिप सेफ्टी पिन स्टाफ आदि का निर्माण
  •  सजावटी बल्ब बोतल गिलास आदि का निर्माण
  •  छाता उत्पादन और पवन ऊर्जा उपकरण उत्पादन
  •  हस्त निर्मित पीतल के बर्तनों का निर्माण
  •  पीतल तांबे   से अन्य वस्तुओं का निर्माण
  •  रेडियो निर्माण
  •  कैसेट प्लेयर का निर्माण
  •  कैसेट रिकॉर्डर का निर्माण
  •  वोल्टेज स्टेबलाइजर का उत्पादन
  • इलेक्ट्रॉनिक्स  घड़ी का निर्माण
  •  लकड़ी पर नक्काशी और कलात्मक फर्नीचर निर्माण
  •   मोटर वाइंडिंग
  •  तार की जाली बनाना
  •  लोहे की ग्रिल निर्माण
  •  ग्रामीण यातायात वाहन जैसे हाथी गाड़ी बैलगाड़ी छोटी नाव दुपहिया साइकिल साइकिल रिक्शा मोटर युक्त गाड़ी आदि का निर्माण
  •  संगीत सांसों का निर्माण
  •  केंचुआ पालन

वस्त्र उद्योग [खादी को छोड़कर]-[मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना]

cmegp scheme योजना के अंतर्गत वस्त्र उद्योग में भी अपने बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं इसके लिए आप मुख्यमंत्री ग्राम उद्योग योजना के अंतर्गत लोन प्राप्त कर सकते हैं परंतु इस योजना के अंतर्गत आप खादी के अंतर्गत व्यवसाय की शुरुआत नहीं कर सकते-

  • लोक वस्त्र का निर्माण
  •  होजरी
  •  सिलाई और सिलाई सिलाई पोशाक तैयार करना
  •  हाथ से मछली मारने वाले नायलॉन सूती जाल तैयार करना
  •   चिकित्सक पट्टी का निर्माण
  •   Stov  की बत्ती
  •  धागे का  गोला ऊनी और लक्ष्मी निर्माण
  •  पाली वस्त्र यानी ऐसे वस्त्र जो भारत में निर्मित रेसिपी रोई रेशम या उनके साथ या इनमें से किसी दो या सभी को मिलाकर हाथ से काटा गया तथा कार्य पर बोला हो या भारत में बना ऐसे बस जो हाथ कटी मानव निर्मित रेशों के धागे को सूची रेशमिया उन्हीं धागे या इसमें किसी दो धागे को मिलाकर  हथकरघा पर बुना गया हो|

सेवा उद्योग-[मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना]

मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत आप सेवा उद्योग में भी 1000000 रुपए तक का लोन अप्लाई कर सकते हैं इस सेवा उद्योग के अंतर्गत निम्नलिखित रोजगार की शुरुआत की जा सकती है जो कि इस प्रकार है-

  •  धुलाई
  •  नाई
  •  बिजली की वायरिंग और घरेलू इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की मरम्मत
  •  टायर वल्कनीकरण इकाई
  •  छिड़काव कीटनाशक पंप सेटों आदि के लिए कृषि सेवा कार्य
  •  लाउडस्पीकर ध्वनि प्रसारण माइक आदि ध्वनि प्रणालियों को किराए पर देना
  •  बैटरी भरना
  •  कला फलक चित्रकारी
  •  साइकिल मरम्मत की दुकान 
  •  राजगीर
  •  माधव  रहते धावा
  •  चाय की दुकान
  •  चिकन एंब्रायडरी
  •  बैंड मंडली
  •  आयोडीन युक्त नमक

 अतिरिक्त नए ग्राम उद्योगों की सूची-[cmegp scheme]

इस अतिरिक्त नए ग्राम उद्योगों की सूची के अंतर्गत कुछ आज के प्रचलन के हिसाब से कुछ बिजनेस जोड़े गए हैं जिनका आप कार्य शुरू करके मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत लोन की प्राप्ति कर सकते हैं जो कि इस प्रकार है-

  •  मोबाइल मरम्मत
  •  ट्रैक्टर मरम्मत
  •   टेंट हाउस एवं कैटरिंग फर्नीचर
  •  कृषि यंत्र एवं मरम्मत
  •  ब्यूटी पार्लर
  •  बॉल पेन स्केच पेन आदि का निर्माण
  •  एनर्जी फूड मल्टीपरपज फूड निर्माण
  •  मधुमेह रोगियों हेतु मिक्स आटा निर्माण
  •  मस्टर्ड पाउडर एवं सॉस निर्माण
  •  सूखे फल एवं सब्जियों का  प्रसंस्करण
  •  फलों एवं टॉफी का निर्माण
  •  एलोवेरा जूस का निर्माण
  •  सोयाबीन आटा निर्माण
  •  पनीर एवं फ्लोएड दूध का निर्माण
  •  बिस्किट निर्माण
  •  एयर कंडीशन एवं फ्रिज मरम्मत
  •  प्रिंटिंग मशीन
  •  आइसक्रीम एवं आइस कैंडी निर्माण
  •  सॉफ्ट टॉयज निर्माण
  •   खेलकूद सामग्री निर्माण
  •  मिनरल वाटर
  •  कंप्यूटर मरम्मत एवं प्रशिक्षण
  •  विपणन उद्यमी
  •  इसे भी पढ़ें?
  • एचडीएफसी बैंक से बिजनेस लोन कैसे लें 5000000 रुपए का बिजनेस लोन?

[cmegp scheme] मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत आवेदन कैसे करें ऑनलाइन-

मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको ऑनलाइन प्रक्रिया अपनानी होगी इस प्रक्रिया के अंतर्गत आप इस वेबसाइट पर क्लिक करेंगे जैसे ही आप इस वेबसाइट पर https://upkvib.gov.in/  क्लिक करते हैं आपके सामने एक नई वेबसाइट ओपन हो जाती है और यहां से आप मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं |

cmegp scheme प्रक्रिया के अंतर्गत आप आवेदन करने के लिए दो आसान और सरल तरीके अपना सकते हैं जैसे कि आप स्वयं इस योजना के अंतर्गत आवेदन दे सकते हैं या फिर अपने किसी नजदीकी सेवा केंद्र जाकर वहां से भी मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत आवेदन दे सकते हैं |

इसके अलावा आपको अपने ग्राम प्रधान से एक अनापत्ति प्रमाण पत्र पर दस्तखत भी करवाने होते हैं अगर आप उस अनापत्ति प्रमाण पत्र को डाउनलोड करना चाहते हैं तो उसके लिए आप यहां पर  CLICK HERE TO DOWNLOAD_   क्लिक करें इसके बाद जब आप ऑनलाइन आवेदन सबमिट करेंगे तब आपको वहां पर इसको भी सबमिट करना होगा |

मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के लिए पात्रता क्या होनी चाहिए?-

मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित पात्रता के आधार पर आवेदन कर सकते हैं जैसे कि-

 आईआईटी व पॉलिटेक्निक संस्थाओं से तकनीकी प्रशिक्षण प्राप्त बेरोजगार नवयुवक

 शिक्षित बेरोजगार नवयुवक जिनकी सरकारी सेवा की आयु समाप्त हो गई हो न्यूनतम आयु 18 से अधिकतम 50 वर्ष तक

 एसजीएस तथा शासन की अन्य योजनाओं के अंतर्गत प्रशिक्षित  अभ्यर्थी

 परंपरागत कारीगर

 स्वता रोजगार में रुचि रखने वाली महिलाएं

 व्यवसायिक शिक्षा के अंतर्गत 10:00 या 12:00 के अंतर्गत ग्राम उद्योग विषय लेकर उतरी अभ्यार्थी

cmegp scheme योजना के अंतर्गत उन अभ्यर्थियों को भी शामिल किया जा सकता है जिन्होंने रोजगार हेतु संबंधित जिले के सेवायोजन कार्यालय में अपना पंजीकरण करा रखा है |

 मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत कितनी योजना प्राप्त होती है?-[cmegp scheme]

cmegp scheme योजना के अंतर्गत अभ्यर्थी को 1000000 रुपए तक का लोन प्राप्त होता है परंतु इस योजना के अंतर्गत सामान्य जाति के अभ्यर्थी को 10 परसेंट का मार्जिन मनी और अन्य जाति साथ ही महिला किसी भी जाति की हो को पांच परसेंट का अंशदान लगाना होता है |

 इस प्रकार से अगर कोई सामान्य पुरुष इस योजना के लिए आवेदन करता है तो उसको ₹100000 स्वयं लगाना होगा साथ ही ₹900000 का उसको  लोन प्राप्त होगा

 इसके अलावा अगर कोई अन्य जाति या महिला अभ्यर्थी इस योजना के अंतर्गत अप्लाई करते हैं तो उनको ₹50000 अपने बिजनेस में लगाने होंगे साथ ही बैंक की तरफ से ₹950000 उनको प्राप्त होंगे जिनसे वह अपने बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं |

 मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत प्राप्त होने वाले फायदे?-[cmegp scheme]

अगर आप cmegp scheme योजना के अंतर्गत लोन के लिए आवेदन करते हैं तो आपको इस योजना के अंतर्गत सबसे बड़ा फायदा यह मिलता है कि आप को 5 साल के लिए जो भी धनराशि दी जाती है उस पर आपको किसी भी तरह का कोई भी ब्याज नहीं देना होता है |

 कहने का तात्पर्य है कि आपको ₹1000000 का लोन बिना ब्याज के प्रदान किया जाता है जिससे आप अपने बिजनेस को शुरू कर सकते हैं और प्रारंभ के 5 वर्षों तक आपको उसके किसी भी प्रकार से लोन में ब्याज देने की आवश्यकता नहीं पड़ती है और आप इन्हीं पांच सालों में अपने लोन की बकाया राशि को जमा करके अपने बिजनेस को आगे ले जा सकते हैं |