जब हींग हमारे जीवन में इतना महत्वपूर्ण स्थान रखता है तब क्यों ना हम हींग का ही बिजनेस शुरू करें अगर आप हींग का बिजनेस शुरू करते हैं तो आप इससे काफी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं और सबसे बड़ा फायदा आपको यह होने वाला है कि इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको कोई स्पेशल ट्रेनिंग की आवश्यकता नहीं होती है ना ही किसी स्पेशल मशीन की अगर आप इस बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो सिर्फ आपको इस प्रकार से इस बिजनेस को शुरू करना चाहिए –

हींग उत्पादन करने वाले देश-

भारत में हींग का उत्पादन नहीं होता है परंतु हींग का इस्तेमाल दुनिया में पैदा होने वाली हींग का 40 परसेंट अकेले भारत में होता है |

भारत में इस्तेमाल होने वाली hing ईरान अफगानिस्तान उज़्बेकिस्तान जैसे देशों से आता है कुछ व्यापारी इसे कजाकिस्तान से भी मंगवाते हैं अफगानिस्तान से आने वाले हींग की मांग सबसे ज्यादा होती है  |

हींग जब इन देशों से भारत में आती है तब वह लिक्विड या तरल रूप में पाई जाती है इसके बाद इसको प्राकृतिक रूप से  धूप में तैयार किया जाता है इसमें कुछ मिलावट की जाती है जिसके बाद इसकी कीमत तय होती है कि किस प्रकार की मिलावट किस हींग में की गई है |

 

हींग का बिजनेस कैसे करें-

hing ka business शुरू करने के लिए निम्नलिखित तरीके से शुरू करें- 

 अपनी मार्केट रिसर्च  करें- 

hing ka business शुरू करने से पहले आपको अपने मार्केट को जान लेना अति आवश्यक है कि आपके मार्केट में किस प्रकार की हींग की डिमांड है बहुत सारी मार्केट इस प्रकार की है जहां पर सबसे हल्की लो क्वालिटी की मांग रहती है और अगर आप उस मार्केट में अच्छी क्वालिटी की हींग लेकर जाते हैं तब आपको अपने मार्केट में सरवाइव करना मुश्किल हो सकता है इसलिए जब भी आप इस बिजनेस को शुरू करें उस से पहले एक बार अपने मार्केट के होलसेल रिटेलर से संपर्क जरूर करें और उनसे यह जानकारी अवश्य लेकर उनको जो प्राप्त हो रही है वह किस प्राइस रेंज में है |

 

हींग की होलसेल मार्केट तलाश करें-

जब आप अपने मार्केट को समझ जाएं कि आपके मार्केट में किस प्रकार की हींग की डिमांड है तब आप उसी प्रकार की hing खरीदने के लिए होलसेल मार्केट में जाएं जहां से आपको कम से कम कीमत में और अच्छी से अच्छी क्वालिटी मिल सके | 

होलसेल मार्केट से आपको कम से कम 3 क्वालिटी की हींग खरीदनी है एक इस प्रकार की जोक आप अपने मार्केट में नंबर वन कह सके और नंबर दो कह सके और नंबर 3 कह सकें |

 ऐसा करने से आपको मार्केट में जब हींग बिक्री के लिए जाना होगा तब क्वालिटी के लिए ज्यादा कस्टमर को समझाना नहीं पड़ेगा इसलिए कम से कम तीन क्वालिटी आपको खरीद कर लाने हैं | 

भारत में हींग की होलसेल मार्केट-

भारत में हींग  की सबसे बड़ी मार्केट उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में है यहां से आप किसी भी प्रकार की हींग खरीद सकते हैं यह मंडी भारत की सबसे बड़ी हींग मंडी है यहीं से हींग पूरे भारत में सप्लाई की जाती है |

 जो माल बाहर से तरल द्रव्य के रूप में आता है उसको हाथरस में ही तैयार करके खाने योग्य बनाया जाता है जिसको हम अपने किचन में बड़े शौक से रखते हैं और खाते हैं | 

 

पैकिंग सामग्री खरीदना-

जब आप हींग की होलसेल मार्केट से ही खरीद कर लाते हैं उसके बाद आपको अपने मार्केट के हिसाब से हींग की छोटे-छोटे पैकेट  तैयार करने होते हैं जिनको आप 5 ग्राम 10 ग्राम 20 ग्राम 50 ग्राम और 100 ग्राम की पैकिंग तैयार करनी होती है |

 इस पैकिंग के लिए आप चाहे तो प्लास्टिक की छोटी रेडीमेड डिब्बी खरीद सकते हैं या फिर प्लास्टिक पन्नी खरीद सकते हैं दोनों ही तरीके आसान और सरल है और मार्केट में बहुत ही सरल तरीके से उपलब्ध भी हो जाते हैं |

हींग तोलने के लिए तराजू खरीदें-

हींग का बिजनेस पूर्ण रूप से नापतोल पर निर्भर करता है इसलिए आपको यह बिजनेस शुरू करने से पहले एक डिजिटल तराजू खरीदनी चाहिए जिससे कि आप जो भी ही खरीद कर ला रहे हैं उसकी सही से  नापतोल कर सके और डिब्बा पन्नी में पैक कर सकें |

 यह मुख्य रूप से ₹1000 से लेकर ₹2000 तक मिल जाती है जो आपको अपने मार्केट में तलाश करनी है और बिजनेस शुरू करने से पहले लाकर घर पर रखनी है

हींग पैकिंग के लिए स्टिकर छपवाना-

जब आप  हींग को छोटे-छोटे डिब्बी में पैक करें या पन्नी में पैक करें इसके बाद इस पर एक स्टीकर लगाना अनिवार्य है ऐसा करने से आपके हींग की क्वालिटी बढ़ जाती है लोगों को एक नाम मिल जाता है जिस नाम से वह मार्केट में आपकी हींग को खरीद सकते हैं इसलिए आपको प्रत्येक पैकेट पर अपनी नाम का स्टीकर जरूर लगाना है जिस पर आपकी फर्म का नाम हो एमआरपी स्टीकर हो जिससे उसकी कीमत के बारे में जानकारी मिल सके और साथ ही यह कहां पर तैयार हुई है यह भी उसमें लिखा होना चाहिए जिससे कि लोगों को आपकी हींग के बारे में पूरी जानकारी मिल सके |

 इन्हें भी पढ़ें-

 नारियल का होलसेल बिजनेस शुरू कैसे करें?

 एचडीएफसी बैंक से ₹1000000 तक का लोन कैसे लें?

 प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत ₹1000000 का लोन घर बैठे कैसे प्राप्त करें ?

Hing सेलिंग के लिए सेलबाय रखें-

हींग की बिक्री करने के लिए आपको एक या दो लड़के रखने की आवश्यकता होती है प्रारंभ के दिनों में आप चाहे तो इस काम को स्वयं भी कर सकते हैं परंतु आप अगर इसे न करना चाहे तो आपको एक या दो लड़के अवश्य रखना चाहिए जो मार्केट में जाकर आर्डर लेकर आ सके और उन तक जो भी माल आर्डर आया हुआ है वह पहुंचा सके और उनसे रुपए लाकर आपको दे सकें यह सब करने के लिए आपको एक या दो या फिर जिस हिसाब से आप बिजनेस कर रहे हैं उस हिसाब से कम या ज्यादा कर सकते हैं |

 

हींग की होलसेल कीमत-

  मार्केट में hing की कीमत ₹2000 केजी से शुरू होकर ₹30000 केजी तक जाती है यह उसकी क्वालिटी पर निर्भर करती है कि आप किस प्रकार की क्वालिटी की ही मार्केट से खरीद रहे हैं मूल रूप से मार्केट में जो हींग की क्वालिटी हमें प्राप्त होती है वह ₹2000 से लेकर ₹5000 तक की क्वालिटी वाली ही hing हमें मिलती है| 

समय-समय पर यह कीमत कम और ज्यादा भी हो सकती है यह निर्भर करता है कि मार्केट में हींग की मांग कितनी है और पूर्ति कितनी हो रही है | 

 

हींग बिजनेस में  कितना प्रॉफिट –

  हींग के बिजनेस में प्रॉफिट कितना है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपने मार्केट में किस प्रकार की हींग की सेलिंग कर रहे हैं ज्यादातर दुकानदार कम कीमत वाली hing खरीद कर  उच्च कीमत वाली hingसे तुलना कर कर बेचते हैं |

 अगर आप होलसेल मार्केट से ₹3000 किलो वाली ही खरीद कर लाते हैं तो उसे आप अपने मार्केट में ₹6000 प्रति किलो के हिसाब से बहुत ही आसानी से बेच सकते हैं इस प्रकार से अगर आप देखें तो हींग के बिजनेस में प्रॉफिट मार्जिन काफी अच्छा है परंतु यह निर्भर करता है कि आप अपना बिजनेस किस प्रकार से कर रहे हैं बहुत सारे लोग कम मार्जिन पर भी अच्छा प्रॉफिट ले लेते हैं |

 

रजिस्ट्रेशन लाइसेंस-

  हींग का बिजनेस करने के लिए आपको फूड लाइसेंस लेने की आवश्यकता पड़ेगी क्योंकि यह एक खाद्य सामग्री वाला प्रोडक्ट है इसलिए जब भी आप ही का बिजनेस शुरू करें तो आपको फूड लाइसेंस लेना अति आवश्यक है साथ ही जीएसटी भी आपको लेनी पड़ेगी क्योंकि अगर आप कोई बिजनेस करते हैं तो बिजनेस कोई भी हो आप उसके साथ जीएसटी अनिवार्य है |